बारिश

मौसम हुआ सुहाना, लाया नया अफसाना मुस्कुराती चली है हवाए, इंतजार में थमी निगाहें करनी है कुछ मीठी बातें, बितानी है हसीन शामे बारिश से दिल को भीगोना है, मौजों की मस्ती में खोना है प्यार भरे कुछ किस्सों से, दिल के हजारों हिस्सो में कागज की कश्तीआ चलानी है, जहा लहेरो सा बहेता पानी... Continue Reading →

Powered by WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: